ir

No Dirty Politics by Shri Adil

No Dirty Politics – but you cannot afford to be apolitical leader in the political eco-system of an organisation. No one in leadership roles can avoid political side of their enterprise much as you may be a champion at delivering the value-creation role that you may be appointed. All organisations exist in a political environment where decisions are made, resources are allocated, rewards are shared, careers are made and careers destroyed. To be effective, a leader cannot hunker down the power structure and claim to focus only on his work role and assignment delivery. Each successful leader has but to thus play certain political roles. Like or dislike. No choice but to play these roles effectively to be able to cope with certain organisation realities to make. Each time a senior candi...

Labour pains: Employee unrest in ‘Detroit of Asia’

The Chengalpattu-Oragadam belt has witnessed labour unrest in recent weeks over issues such as workers’ wages and the recognition of unions. Continued ferment could have implications for the State’s ability to attract investment in a highly competitive arena.   With companies like Ford, Hyundai Motor, BMW, Daimler, Renault-Nissan, Mitsubishi Motors, Yamaha Motor and Royal Enfield present, the Chengalpattu-Oragadam belt, near Chennai, has come to be known as the ‘Detroit of Asia’. In this hub that has the capacity to produce one car every 20 seconds, labour issues have begun to rear their head. In the last few weeks, workers from two-wheeler firms Yamaha and Royal Enfield and some from auto component firms have been taking to the streets to voice their concerns pertaining to issues suc...

Changing Face ( PHASE ) of IR

In the VUCA world, where every thing moving is getting changed to new shape. Industrial Relation, one of the core vertical of  Human Relations, is also coming out in a new shape. We are as said are in Kal- yug – and change has taken place with yug also. In Satyug the fight was between TWO planets – Devta ( Aakash lok ) and Danava ( Patal lok) , In treta yug – the fight was between two Nation ( Ram and Ravan). In Dwapar, the fight was between Two Families and now in Kal yug, the fight is within self. With time, there is a change in Industry and will continue to change, there is a change in Relationship and Industrial Relation has changed and will continue to change in future also.  Such change will bring change in the nature of conflict. and its resolution pattern. We at I...

HR की विडंबना

किसी भी कम्पनी मे आपने देखा होगा की लोग किसी भी इनफर्मेशन के लिए HR विभाग के सदस्यों की ओर देखते है। ये माना जाता है कि HR विभाग मे कार्यरत व्यक्ति को हर विषय की जानकारी होगी चाहे वो इंक्रिमेंट हो या प्रमोशन हो या किसी पर कायर्वाही की जानकरी हो। अब विडम्बना देखे HR की, उसे सब के बारे में जानकारी होती है पर खुद के …. एक पागल खाने मे एक पागल कुछ लिख रहा था। किसी समझदार ने उस पागल से पूछा क्या लिख रहे हो? पागल बोला, चिट्ठी लिख रहा हूँ। समझदार ने पूछा ” किसको लिख रहे हो?” पागल बोला खुद को लिख रहा हु। इस पर समझदार ने पूछ लिया ” चिट्ठी मे क्या लिखा है?” अब जो पागल ने बताया वो एक HR वाला अपने आप को इस जवाब के खूब करीब मे पायेगा। पागल ने उस समझदार को कहा ” जनाब, मै चिट्ठी लिख रहा हु , खुद को लिख रहा हु पर मुझे नहीं पता उस चिट्ठी मे क्या लिखा है क्योंकि चिट्ठी अभ...

समय के आगे….

आप सभी ने टोपीवाला और बन्दर की कहानी सुनी होगी। आज कुछ आगे क्या हुआ उसे पढें। दो छोटे छोटे गॉव थे | दोनों गॉवो के बीच जंगल था | इस जंगल मे बहुत सारे बन्दर थे | एक दिन एक टोपीवाला टोपियां बेचने के लिए इस जंगल से होकर दूसरे गॉव जा रहा था | वह चलते चलते थक गया | उसने अपना टोपियों से भरा संदूक एक पेड़ के निचे रखा और बैठकर आराम करने लगा | थोड़ी ही देर मे उसे नींद आ गयी |जब टोपीवाले की नींद खुली, तो वह चौक उठा | उसका संदूक खुला था और सारी टोपियां गायब थी | इतने मे उस बंदरो की आवाज सुनाई दी | उसने ऊपर देखा | उस पेड़ पर बहुत सारे बन्दर बैठे थे | सभी बंदरो ने अपने सर पर टोपी पहनी थी | टोपीवाले को बहुत गुस्सा आया | उसने पथ्थर उठा उठा कर बंदरो को मारना शुरू कर दिया | उसकी नक़ल करते हुए बंदरो ने भी पेड़ से फल तोड़ तोड़ कर टोपीवाले की और फेखना शुरू कर दिया | अब टोपीवाले कीसमझ मे आ गया की वह बंदरो से टोपिया कै...

High Court Confirms Life Term to Union Leaders

  Seven years after the murder of the Vice President HR of Coimbatore based Pricol Limited the Madras high court has confirmed the life sentence awarded to two union leaders charged of the murder. Following unrest among workers, the VP – HR Mr. Roy J George was attacked right inside his cabin in the company premises located in Periyanaickenpalayam by a group with iron rods in 2009. He sustained multiple head injuries in the attack and later died in a privat3e hospital. An alumnus of IIM C, he was reportedly spearheading efforts to bring back normalcy in the company and had dismissed 42 employees of the company over labour issues. Following the murder, charges were framed against 27 employees and trade union leaders of the company. On December 2, 2015, a special Court for Bomb Blast Ca...

बैंगन का भरता

जिंदगी के कीमती वर्ष HR में गुजारने के बाद भी असमंजस ही रहता है की मुझे Employer की तरफ या Employee की तरफ रहना चाहीए? दोनों के बीच का बेलैंस तो दूर की ही बाद है। इसे समझने का इस कहानी से अच्छा ओर क्या तरीका हो सकता है। एक राजा था, जिसका रसोइया सीताराम था। सीताराम काफी वर्षों से राजा को अच्छे से अच्छा खाना बनाता एवं राजा का काफी करीबी माना जाता था। एक दिन सीताराम ने बैंगन का भरता बनाया । राजा उस दिन काफी खुश था । राजा ने बैंगन के भरते की काफी तारीफ की। राजा ने कहा “सीताराम, क्या भरता बनाया है” ! सीताराम ने भी बैंगन की काफी तारीफ की और कहा साहब बैगन चीज़ ही ऐसी है – गोल गोल , मोटा मोटा… फिर कुछ दिन बाद सीताराम ने वही बैंगन का भरता बनाया। वही स्वाद था । परंतु आज राजा का मन खुश न था। राजा ने कहा ” सीताराम क्या भरता बनाया है”! सीताराम ने भी बैंगन की बुराई की ...

गधे की लात

कहते है कि गधे की लात से कभी गधा मरा नहीं है। परंतु ये भी बात इतनी सही है कि अपने ही अपने को मारते है।HR के recruiter में HR ही सबसे ज्यादा परेशांन करते है। इस से के कहानी याद आती है : एक बार एक कुत्ते और गधे के बीच शर्त लगी कि जो जल्दी से जल्दी दौडते हुए दो गाँव आगे रखे एक सिंहासन पर बैठेगा… वही उस सिंहासन का अधिकारी माना जायेगा, और राज करेगा. जैसा कि निश्चित हुआ था, दौड शुरू हुई. कुत्ते को पूरा विश्वास था कि मैं ही जीतूंगा. क्योंकि ज़ाहिर है इस गधे से तो मैं तेज ही दौडूंगा.  पर अागे किस्मत में क्या लिखा है … ये कुत्ते को मालूम ही नही था. शर्त शुरू हुई. कुत्ता तेजी से दौडने लगा.  पर थोडा ही आगे गया न गया था कि अगली गली के कुत्तों ने उसे देख काटने, भौंकने और पकड़ने लगे.  और ऐसा हर गली, हर चौराहे पर होता रहा.. जैसे तैसे कुत्ता बचता बचाता, हांफते हांफते सिंहासन के पास पहुंचा.. तो ...

कॉर्पोरेट पोलिटिक्स

  हम  अक्सर बात करते है कि कंपनी मे बहुत पॉलिटिक्स हे, लोग बहुत गेम खेलते है, मजा नहीं आता…… पर सबसे बड़ा सवाल ये है कि लोग ये कहा से सीखते है, कोई स्कूल मे या कॉलेज मे तो पढ़ाया नहीं जाता । फिर ये कहा से आता है? बहुत सोचा तब कही मै इस समस्या की नींव तक पहुच सका। एक बार शाम को घर पंहुचा। श्रीमती ने खाने के सुझाव मांगे औऱ मेरे हर सुझावो को एक या दुसरे कारण से नकार दिए गए। मैने कहा, आलू बना लो – कारण दिया आलू गैस करते हैं। मैने कहा भिन्डी बना लो- जवाब दिया अभी तो खाइ थी। औऱ अंत मे श्रीमति ने कहा बैगन कैसा रहेगा? मेरे पास कोई जवाब नहीं था बल्कि हाँ ही कहना था। श्रीमति हँसती हुई  डिनर बनाने चली गई। डिनर टेबल पर जब खाना आया, हमारी बेटी चिल्लाई, ” मम्मी ये क्या सब्जी बनाई है? You don’t have choice”. दोस्तों यही से बच्चे पॉलिटिक्स की A B C D सिखते हैं। बेट...

HR MEET – Disruptive HR Roles by 2k20

“Robots could soon be hiring and firing staff at the world’s largest hedge fund under secret plans drawn up to improve efficiency.”   Our forum started thinking on various aspect of HR by 2K20 by way of organizing HR meet on Redefining Employability  of Gen Y by 2k20 followed by Paving the road map by 2k20 and last year it was Conundrum HR 2K20. With the same theme this year we are going with Disruptive Roles of HR by 2k20. During our 7th Anniversary event, this time at Shri Aurobindo Institute, Indore,on 26th Feb 2017 we are going to organize HR Meet on Disruptive Roles of HR by 2k20 and will discuss few of the subjects like Artificial Intelligence, Role of HR in Start up, Changing scenario of IR, Temporary Staffing and many more. It will be day long event. For more...

Bajaj Auto Worker on hunger strike

  In a letter addressed to Bajaj Auto Managing Director Rajiv Bajaj, Vishwa Kalyan Kamgar Sanghatana said, “It will undertake a hunger strike at the Shahid Datta Padale statue, opposite Bajaj Auto gate, Akurdi, on January 7-8 against anti workers and anti union activities of the Bajaj management.”   NEW DELHI: Workers of Bajaj Auto will go on a two-day hunger strike on January 7 and 8 in front of the company’s Akurdi plant in Pune to protest against the ‘anti-workers activities’ of the company’s management. In a letter addressed to Bajaj Auto Managing Director Rajiv Bajaj, Vishwa Kalyan Kamgar Sanghatana said, “It will undertake a hunger strike at the Shahid Datta Padale statue, opposite Bajaj Auto gate, Akurdi, on January 7-8 against ant...

  • 1
  • 2

Lost Password

Register

Skip to toolbar